Diwali 2013

Aaj Deepawali ke din jail me 3:30 P.M.ko pujya gurudev ke bahut acche darshan hue…
Bapuji aate hi bole ki.. aaj to tum sab ki happy dewali ho gaei…….bahne rone lagi to bapuji..bole ki rona nahi Satsang suno………ab kuch din ki hi baat h………aa raha hu bahar jaldi…….kuch dino baad apan sab rubru ho kar satsang karenge…fir gurudev bole ki bhagwan krishn ke mata pita ko bhi jail me Rahna pada………….Bhagwan Ramji or Krishn Bhagwan ki bhi…… .paristhiti sada ek jaisi nahi Rahi….yeh Sansar Adla-Badla hai…..paristhiti sada ek jaisi nhi rahti….Paristhiti ko dekhkar sukhi-dukhi hone ki jarurat nhi……..sansar swapn hai….parmatma Apna hai….om…om…om..aaj jo hai wo kal nahi rahega…..or fir bapuji karib 50 feet lamba round laga ke wapas darshan dete dete fir andar chale gaye….hariom………Om….Om……Om…..Om……Om
……Yss Cgn Bhai…..Pali
Image
Image
Image

Sewakary on Diwali 2013

संत श्री आशारामजी आश्रम
संत श्री आशारामजी बापू आश्रम मार्ग, साबरमती, अहमदाबाद-५

प्रेस नोट 4 नवंबर 2013.

जोधपुर जेल में संत श्री आशारामजी बापू के भक्तों
की अनोखी दिवाली !

पिछले ढाई महीनों से चल रहे षड्यंत्र व कुप्रचार के प्रयासों के बावजूद संत श्री आशारामजी बापू के भक्तों और श्रद्धालुओं की आस्था में कोई फर्क नहीं पड़ा है । 4 नवंबर को जोधपुर जेल में बापूजी के सान्निध्य में दीपावली मनाने पहुँचे हजारों श्रद्धालुओं की संख्या ने यह बात साबित कर दी है । जोधपुर जेल के कर्मचारियों ने यह कभी कल्पना भी नहीं की होगी कि कभी उन्हें ऐसी दीपावली के दीदार करने का मौका भी मिलेगा | आमतौर पर दीपावली की रातों में वीरान रहनेवाली जेल की सड़कें इस बार बापूजी के भक्तों ने अपने श्रद्धा-भक्ति के साथ जलाये गये दीपों से जगमगा दीं |
बड़ा ही अद्भुत नजारा था जोधपुर कारागृह का ! जेल में भी अपने सद्गुरु के दर्शन के लिए व्याकुल भक्तों की गीली आँखें, पूजन के लिए हाथों में दीपक और भजन-आरती की मधुर ध्वनि । जिसने भी देखा, देखता ही रह गया ।
कुप्रचारकों और षड्यंत्रकारियों के मुँह पर यह करारा तमाचा है और उनकी असफलता का सबूत है | दिनांक 4 नवंबर 2013 को दिवाली के दिन जोधपुर जेल में आये बापूजी के हजारों साधकों ने जेल के मुख्य द्वार पर तथा पूरी बाउंड्री और जेल के बाहर की सड़क पर दीप जलाकर, रंगोली निकाल के, जेल के गेट पर बापूजी का श्रीचित्र विराजित कर आरती व भजन गाकर अनूठी व ऐतिहासिक दीपावली मनायी ! दीप और रंगोली की सजावट देखकर लग रहा था मानो यह जेल नहीं आश्रम है !
आज तक बापूजी के भक्तों की दिवाली बापूजी के दर्शन, सत्संग और सान्निध्य में मनती थी । मगर इस बार लम्बे अरसे से भक्त अपने सद्गुरु के दर्शन और अमृतवाणी सुनने के लिए तरस गये थे । जोधपुर जेल में दीपावली को कुछ भक्तों को बापूजी के दर्शन का सौभाग्य मिला । पूज्य बापूजी ने उन्हें दीपावली की शुभकामनाएँ दीं और कहा कि ‘‘हर समय एक जैसा नहीं होता । विकट परिस्तिथियाँ तो सभीके जीवन में आती हैं, यह समय भी नहीं रहेगा । आप लोग दीपावली अच्छे से मनाना ।’’ बापूजी के दर्शन करके भक्तों की आँखों से अश्रुधार बह चलीं और वह तो रुकने का नाम ही नहीं ले रहीं थी । अपने निर्दोष सद्गुरुदेव को कारागृह में देखकर आखिर किसका हृदय द्रवित हुए बिना नहीं रहेगा !
इतने सालों से बापूजी के लिए दुष्प्रचार चल रहा है परंतु बापूजी के श्रद्धालुओं में कोई कमी नहीं आयी है | अब भक्तों ने मानो ठान लिया है कि कुप्रचारक कितना ही षड्यंत्र व कुप्रचार कर लें पर हमारी श्रद्धा टूटने व कम होनेवाली नहीं है । वह तो दिनोंदिन बढ़ती ही जायेगी ।

मीडिया प्रभारी ,
संत श्री आशारामजी आश्रम

SHRI SADGURURDEV JI BHAGAVAN KI SADAA HI MAHAA JAYJAYKAAR HO!!!!!

Advertisements
Explore posts in the same categories: Uncategorized

2 Comments on “Diwali 2013”

  1. Priya Dhasal Says:

    yahi hain sacchi bhakto ki pehchan………
    jai gurudev…….


Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s


%d bloggers like this: